Home HOME राज्य सरकार की पूरी ताकतें न होने बावजूद दिल्ली में हुआ ऐतिहासिक...

राज्य सरकार की पूरी ताकतें न होने बावजूद दिल्ली में हुआ ऐतिहासिक काम: आतिशी

0
20
views

नई दिल्ली :- शनिवार शाम 23 फरवरी को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा, AAP की पूर्वी दिल्ली लोकसभा प्रभारी आतिशी के उपस्थिति में कई सारे विकास कार्यों का शुभारंभ किया गया। पूर्वी दिल्ली के कृष्णनगर के खुरेजी में और ओखला के शाहीन बाग़ में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने हजारों क्षेत्रवासियों के साथ मिल कर शुभारंभ किया।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि, केंद्र में बैठी भाजपा सरकार के तमाम बाधाओं और अड़चनों के बावजूद आम आदमी पार्टी की सरकार विकास के क्षेत्र में बेहतरीन काम कर रही है। आपने पिछली बार लोकसभा चुनाव में दिल्ली की सातों सीटों पर भाजपा के सांसदों को जिताया, लेकिन इन सांसदों ने जनता के काम करने की बजाए, उल्टा दिल्ली सरकार द्वारा किये जा रहे जनहित की कार्यों में अड़चने लगाने का काम किया। उन्होंने कहा कि, 70 साल हो गए, भाजपा और कांग्रेस की सरकारें आई और गईं। पूर्ण राज्यन का वादा कर, चुनाव जीतकर भूल गए। मोदी जी ने भी 2014 में दिल्ली को पूर्णराज्य बनाने का वादा किया था, लेकिन भाजपा की केंद्र सरकार ने दिल्ली की जनता को धोखा दिया। मेरी आप लोगों से विनती है कि इस बार दिल्ली की सातों सीटों पर आम आदमी पार्टी के सांसदों को जिताना, ताकि दिल्ली की जनता के लिए दिल्ली सरकार जो काम कर रही है उनको और 10 गुना तेजी से किया जा सके और विधानसभा की भांति लोकसभा में भी जनहित के मुद्दों को पुरजोर तरीके से उठाया जा सके।


वहीं इस दौरान वहां उपस्थित आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्वी दिल्ली लोकसभा प्रत्याशी आतिशी ने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि, पूर्वी दिल्ली बार बार अलग अलग राजनीतिक दलों के लोगों को लोकसभा और विधानसभा में भेजा लेकिन उनकी बुनियादी समस्याओं सड़क, पानी, बिजली, सीवर और स्कूल का समाधान किसी ने नहीं किया। जबकि अरविंद केजरीवाल ने सस्ती बिजली का वादा किया था उन्होंने पूरा किया, मुफ्त पानी का वादा किया था वह उन्होंने पूरा किया, सरकारी स्कूलों में क्रांतिकारी बदलाव लाए जिसे आज सामान्य परिवारों के बच्चों को भी अच्छी शिक्षा मिल रही है।

आतिशी ने कहा, भाजपा के सांसद चुनकर के तो जनता की तरफ से गए हैं लेकिन पहले दिन से जनता के द्वारा चुनी गई सरकार के विपक्ष में हर बात पर खड़े हो जाते हैं। तो आने वाले लोकसभा चुनाव में दिल्ली की जनता को तय करना है कि उनके सांसद कैसे लोग हों? उनके सांसद ऐसे लोग होने चाहिए जो जनता के हित की बात कर सकें जो जनता के हक में खड़े हो सकें।

LEAVE A REPLY